Jan 15, 2018

GOOD NEWS - सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद रेलवे कर्मियों के पुत्रो को नौकरी की जगी उमीद

सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद रेलवे कर्मियों के पुत्रों को नौकरी की उम्मीद जगी है। रेलवे ने रनिंग कर्मियों को स्वैच्छिक सेवानिवृत्त लेकर अपने एक संतान को नौकरी देने की व्यवस्था लागू कर रखी थी। हाईकोर्ट ने इस व्यवस्था पर रोक लगा दी थी। रेलवे बोर्ड ने हाईकोर्ट आदेश के विरुद्ध सुप्रीम कोर्ट में अपील की। नरमू के मंडल मंत्री  ने बताया कि सुप्रीम कोर्ट हाई कोर्ट के आदेश खारिज कर दिया और रेल प्रशासन को रेल कर्मियों के पुत्रों को नौकरी देने पर विचार करने का आदेश दिया है। सुप्रीम के आदेश के बाद रेल कर्मियों को पुत्रों को नौकरी मिलने का रास्ता फिर से साफ हो गया है।


By Jagran

Translate in your language

M 1

Followers